QCI के बारे में Visit Website


  • Quality Council of India (QCI) की स्थापना अंतर-मंत्रालयीय टास्क फोर्स, सचिवों की समिति और मंत्रियों के समूह में परामर्श के बाद 1996 में यूरोपीय संघ के विशेषज्ञ मिशनों की सिफारिश पर राष्ट्रीय प्रत्यायन (Accreditation) की संस्था के रूप में की गई|
  • QCI 1997 में भारत सरकार और भारतीय उद्योग द्वारा, जिसका प्रतिनिधित्व तीन प्रमुख उद्योग संघों – एसोसिएटेड चैम्बर्स ऑफ़ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री ऑफ़ इंडिया (एसोचैम), भारतीय उद्योग संघ (सीआईआई) तथा फेडरेशन ऑफ़ इंडियन चैम्बर्स ऑफ़ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री (फिक्की) द्वारा किया गया, प्राप्त प्रारंभिक सहायता निधि के माध्यम से अस्तित्व में आया|
  • औद्योगिक नीति और संवर्धन विभाग (Department of Industrial Policy and Promotion, DIPP), वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय (Ministry of Commerce and Industry), QCI के लिए प्रधान (नोडल) विभाग है।
  • QCI के अध्यक्ष (चेयरमैन) की नियुक्ति भारत के प्रधानमंत्री द्वारा की जाती है|

भूमिका


  • राष्ट्रीय गुणवत्ता अभियान के माध्यम से एक राष्ट्रीय प्रत्यायन (accreditation) संरचना को संचालित एवं स्थापित करना तथा गुणवत्ता को बढ़ावा देना।
  • अपने स्वयं के संसाधनों एवं प्रत्यायन शुल्क के मध्यम से कार्य करना एवं गुणवत्ता को बढ़ावा देने में निवेश करना|
  • दुनिया भर में उत्पादों, सेवाओं और प्रक्रियाओं के तीसरे पक्ष द्वारा मूल्यांकन हेतु एक क्रिया-विधि बनाने के कार्य के साथ, गुणवत्ता की पारिस्थितिकी तंत्र के अनुसार राष्ट्रीय प्रत्यायन संस्था (National Accreditation Board) की भूमिका निभाना|
  • सरकार और उद्योगो से अलग एक स्वतंत्र संस्था के रूप में कार्य करना तथा अपने नियमो, अधिकारों, और कार्यो के साथ समाज के MoA के अनुसार एक स्वतंत्र पेशेवर निकाय के तौर पर कार्य करना|

NABET Visit Website


  • राष्ट्रीय शिक्षा और प्रशिक्षण प्रत्यायन बोर्ड (National Accreditation Board for Education and Training, NABET) QCI का एक घटक बोर्ड है।
  • NABET ने उद्योग की जरूरतों को पूरा करने के लिए सेवाओं के अपने दायरे का विस्तार किया है। इसने विभिन्न सेवा क्षेत्र और सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योगों के प्रत्यायन के लिए एक क्रिया-विधि स्थापित की है।
  • NABET दो तरह की भूमिका निभाता है| सरकार द्वारा एक विशेषज्ञ संस्था के रूप में, इससे कौशल/व्यावसायिक क्षेत्रों (आई.टी.आई.) की गुणवत्ता सुनिश्चित करने और पर्यावरण प्रभाव मूल्यांकन (Environment Impact Assessment) में शामिल सलाहकारों की सेवाएं प्रदान करने की मांग की जाती है||
  • NABET ने समग्र शिक्षा कार्यक्रम के प्रभावी प्रबंधन और वितरण हेतु रूपरेखा प्रदान करने की दृष्टि से देश में गुणवत्ता स्कूल प्रशासन (quality school governance) के लिए एक प्रत्यायन (accreditation) कार्यक्रम शुरू किया है।